item-thumbnail

वैदिक शिक्षा से घटेंगे स्त्रियों के प्रति अपराध

December 21, 2019

विकास पराशर लेखक सर्वोच्च न्यायालय में अधिवक्ता तथा शिक्षाविद् हैं। आधुनिकता और शहरीकरण के नाम पर समाज में एक सोची समझी नीति के तहत हिंदुओं में पूजनीय...

item-thumbnail

देश का सही चित्र सामने रखें पाठ्य पुस्तकें

December 21, 2019

गत 11 दिसंबर को भारतीय संसद ने अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बांग्लादेश में धार्मिक आधार पर प्रताडि़त हिन्दू जो भारत में शरणार्थी के रूप में रह रहे है, उन्ह...

item-thumbnail

आज भी प्रासंगिक है रामचरितमानस

July 23, 2019

उमेश पाठक लेखक सूकरक्षेत्र शोध संस्थान, उ.प्र. से संबंद्ध हैं। भारतीय संस्कृति के सजग प्रहरी गोस्वमी तुलसीदास जी कालजयी व्यक्तित्व व कृतित्व के धनी है...

item-thumbnail

त्रिपुरारि भगवान शिव और बोडे का नियम

July 8, 2019

अभिनंदन शर्मा लेखक भारतीय संस्कृति के अध्येता हैं। तारकासुर नाम के एक दैत्य के तीन पुत्र थे, जिनके नाम तारकाक्ष, विद्युन्माली तथा कमलाक्ष थे। ये तीनों...

item-thumbnail

शिक्षा की वैदिक दृष्टि

July 8, 2019

प्रो. रामेश्वर मिश्र पंकज लेखक वरिष्ठ विचारक हैं। कृष्ण यजुर्वेद की तैत्तिरीय शाखा के अंतर्गत तैत्तिरीय आरण्यक के सातवें आठवें और नवम अध्याय को तैत्ति...

item-thumbnail

परिवार है जीवन का आधार

July 8, 2019

डॉ. कृष्णचंद्र पांडेय लेखक लोक संपदा विभाग, आकाशवाणी से संबद्ध हैं। कहा जाता है कि मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। यूं तो सृष्टि के प्रत्येक प्राणी का अप...

item-thumbnail

आयुर्वेद में है कॅरियर की अपार संभावनाएं

July 8, 2019

नेहा जैन लेखिका स्वतंत्र पत्रकार हैं। आयुर्वेद भारत की लगभग पांच हजार वर्ष पूर्व की चिकित्सा पद्धति है। प्राचीन समय में लोग वैद्य से दवा लेते थे। धीरे...

item-thumbnail

साबरमती-गुरुकुलम् भारतीय विद्याओं का सर्वोत्तम केंद्र

July 8, 2019

गुंजन अग्रवाल लेखक इतिहास के विद्बान तथा वरिष्ठ पत्रकार हैं। यह जान कर आप हैरान हो सकते हैं कि भारत का एक स्कूली छात्र कम्प्यूटर से भी तेज गणित कर सकत...

item-thumbnail

मनमोहक हैं असम के लोकगीत

July 8, 2019

डॉ. राजश्री देवी लेखिका असम विश्वविद्यालय में अतिथि अध्यापिका हैं। लोक का अर्थ है एक समाज में रह रहे साधारण लोग। साहित्य में लोक कहने से साधारणत: औपचा...

1 2 3 13