item-thumbnail

सही समझ के मंत्रदाता : रवींद्र शर्मा गुरुजी

July 25, 2018

रामबहादुर राय लेखक इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय कलाकेंद्र के अध्यक्ष हैं। रवींद्र शर्मा ‘गुरुजी’ में कलात्मक आकर्षण अपार था। जो भी उनके संपर्क म...

item-thumbnail

अप्रतिम योद्धा छत्रपति शिवाजी

May 21, 2018

ज्ञानेंद्र बरतरिया लेखक प्रसार भारती में सलाहकार हैं। छत्रपति शिवाजी महाराज आज अपने वक्त से ज्यादा प्रासंगिक हैं। छत्रपति शिवाजी ने युद्ध, राजनीति-कूट...

item-thumbnail

अहिल्याबाई : जिन्होंने कराया मंदिरों का जीर्णोद्धार

May 21, 2018

आनंद कुमार लेखक स्वतंत्र पत्रकार हैं। दिल्ली के प्रमुख स्थलों में से एक नेहरु प्लेस के प्रसिद्ध बाजार का इलाका कालकाजी नाम से भी जाना जाता है। वहाँ मौ...

item-thumbnail

जब डर कर भागना पड़ा मुहम्मद गोरी को

May 21, 2018

मनीषा सिंह लेखिका युवा इतिहासकार हैं। भारत माता की कोख से एक से बढ़कर एक महान वीर ही नहीं बल्कि कई वीरांगनाओं ने भी जन्म लिया है जिन्होंने भारत माता क...

item-thumbnail

श्रीरामचरितमानस के अद्भुत टीकाकार महाराजकुमार बाबू रणबहादुर सिंह

March 15, 2018

डॉ. जितेन्द्रकुमार सिंह संजय लेखक साहित्य कला संस्कृति एवं इतिहास के अध्येता हैं। भारतीय राजवंश का विद्यानुराग जगत्प्रसिद्ध है। भारत के विद्या-व्यसनी ...

item-thumbnail

विश्व में भारत की ध्वजा फहराने वाले राजा रणजीत सिंह

May 17, 2017

विवेक भटनागर लेखक इतिहास के शोधार्थी हैं। कम्युनिस्टों से लेकर राष्ट्रवादियों तक सभी एक स्वर से भारत की हजार वर्ष की गुलामी की बात सरलता से कह जाते है...

item-thumbnail

सच्च और खरा गाँधीवादी अनुपम मिश्र

March 27, 2017

प्रो. रामेश्वर मिश्र पंकज लेखक गांधी विद्या संस्थान, वाराणसी के निदेशक हैं। अनुपम मिश्र नहीं रहे। वे एक सच्चे और खरे गाँधीवादी थे। उनके जैसा कोई व्यक्...

item-thumbnail

एक वैचारिक योद्धा का प्रयाण

March 27, 2017

रवि शंकर लेखक कार्यकारी संपादक हैं। राजेंद्र सिंह नहीं रहे। यह लिखना पीड़ादायक है। राजेंद्र सिंह के जाने से कहीं कोई खबर नहीं बनी, परंतु उनके रूप में ए...

item-thumbnail

अपराजित बप्पा रावल

October 22, 2016

विवेक भटनागर लेखक इतिहास के शोधार्थी हैं। देश पर अरबों, मुगलों, अंग्रेजों द्वारा आक्रमण और शासन किए जाने की कहानी तो हम पढ़ते ही हैं परंतु हमें यह नहीं...

item-thumbnail

आज के युग में महर्षि दयानंदका जीवन-दर्शन

March 21, 2016

पं. राजेन्द्र जिज्ञासु लेखक आर्यसमाजी विद्वान हैं। झुग्गी झोपड़ी में रहने वाला सर्वथा निरक्षर व्यक्ति भी विज्ञान तथा विज्ञान के आविष्कारों से लाभान्वित...

1 2 3