item-thumbnail

जानें चीन का सच-चीन और भारत में क्या है साझा

December 22, 2016

रवि शंकर कार्यकारी संपादक भारत और चीन दोनों पड़ोसी देश ही नहीं हैं, बल्कि दोनों में काफी कुछ साझा भी है। जब भी विश्व की प्राचीन सभ्यताओं की चर्चा होती ...

item-thumbnail

महाशक्ति, आर्थिक विकास और चीन के मिथक

December 22, 2016

अजीत कुमार लेखक सेंटर फॉर सिविलाइजेशनल स्टडीज में शोधार्थी हैं। क्या आप जानते हैं कि क्षेत्रफल में भारत से तीन गुणा बड़ा चीन कभी भारत से छोटा भी रहा है...

item-thumbnail

झारखण्डी संस्कृति देशज सौन्दर्य का आलोक

October 22, 2016

रणेन्द्र लेखक झारखंड सरकार में खेल निदेशक हैं। झारखण्ड की अपनी विशिष्ट संस्कृति निर्विवाद रूप से यहाँ की देशज आदिवासी संस्कृति है। दामोदर घाटी की गोद ...

item-thumbnail

चंगेज खाँ मिथकों को तोड़ता एक अप्रतिम नायक

July 6, 2016

रवि शंकर कार्यकारी संपादक इतिहास और मिथक का अंतर समझना हो तो केवल भारत का इतिहास पढ़ने से काम नहीं चलेगा। इसके लिए थोड़ा बहुत दुनिया का भी इतिहास पढ़ना प...

item-thumbnail

राष्ट्रीय एकता और आस्था का संगम महाकुम्भ

March 21, 2016

राजीव मल्होत्रा लेखक इनफिनिटी फाउंडेशन से जुड़े हैं। भारत आदिकाल से पर्वो और उत्सवों का देश रहा है जो भारत की श्रेष्ठता और समृद्धि को प्रकट करता है। भ...

item-thumbnail

लुप्त होती गोदना संस्कृति

January 28, 2016

राजीव रंजन प्रसाद लेखक प्रसिद्ध ऐतिहासिक उपन्यासकार हैं। छत्तीसगढ़ में लोक-मान्यता है कि गुदने के बिना जीवन का सौन्दर्य अधूरा रह जाता है। जो युवती लम्ब...

item-thumbnail

गुरु नानकदेव की राष्ट्रीय दृष्टि

December 7, 2015

राजेंद्र सिंह लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं। कदाचित् मध्यकालीन भारत के सन्तों और सिद्धों की श्रेणी में गुरु नानकदेव अकेली ऐसी विभूति हैं जिन्होंने इस प्राची...

item-thumbnail

कैसे बचें बेटियां

October 12, 2015

रवि शंकर आम तौर पर ऐसा कह दिया जाता है कि अपने देश में अत्यंत प्राचीन काल से ही स्त्रियों के प्रति काफी उपेक्षा भरा और शोषणकारी व्यवहार किया जाता रहा ...

item-thumbnail

प्राचीन भारत में बेटियों का महत्त्व

October 12, 2015

ज्ञानेंद्र बरतरिया इस लेख के दो उद्देश्य हैं। एक यह कि यह लेख प्राचीन भारत में कन्याओं, स्त्रियों और महिलाओं की स्थिति को यथासंभव और संक्षेप में प्रस्...

item-thumbnail

नमस्कार महामंत्र के द्वारा शारीरिक स्वास्थ्य

August 18, 2015

कल्पना कराला :हमारा संसार रहस्यों से भरा पड़ा है। इसमें अनन्त के रहस्य छिपे पड़े है। वे ही व्यक्ति कुछ करने में सफल हो पाते हैं, जो रहस्यों की खोज करत...

1 3 4 5 6 7