item-thumbnail

प्रकृति की नब्ज बताती भारतीय कालगणना

May 25, 2020

डॉ राम अचल लेखक आयुर्वेद चिकित्सक तथा विश्व आयुर्वेद काँग्रेस के सदस्य हैं। नववर्ष कालगणना का वार्षिक शुभारम्भ होता है, पूरी दुनिया में 96 तरह की कालग...

item-thumbnail

बौद्धिक संघर्ष के साथी बनें

May 25, 2020

कहा जाता है कि पुस्तकें मनुष्य की सबसे अच्छी मित्र होती हैं, इसमें मैं एक बात जोडऩा चाहुंगा कि पुस्तकें मनुष्य की सबसे बड़ी शत्रु भी हो सकती हैं। जो प...

item-thumbnail

कितनी उपयोगी है एनसीईआरटी पुस्तकेंं ?

December 21, 2019

डॉ. शैलेन्द्र कुमार लेखक प्रसार भारती में अपर महानिदेशक हैं। हमारे देश की विद्यालयी शिक्षा को पांच से अधिक बोर्ड संचालित करते हैं। इसलिए हमारी शिक्षा ...

item-thumbnail

झूठा इतिहास और अव्यवहारिक गणित सिखाती एन.सी.ई.आर.टी

December 21, 2019

डॉ. चन्द्रकान्त राजू लेखक प्रसिद्ध गणितज्ञ तथा उच्च अध्ययन संस्थान शिमला में टैगोर फेलो हैं। गणित को सामान्यत: एक कठिन विषय माना जाता है। अक्सर इसके ल...

item-thumbnail

सामाजिक विद्वेष फैलाती एनसीईआरटी

December 21, 2019

रवि शंकर कार्यकारी संपादक एन.सी.ई.आर.टी का नाम लेते ही हमारे मन में ऐसी पुस्तकों का चित्र उभरता है, जो पूरे देश में बच्चों को पढ़ाई जाती हैं। ऐसे में ...

item-thumbnail

लाचित बरफूकन की वीरता के कारण मुगल नहीं कर पाए थे पूर्वोत्तर भारत पर कब्ज़ा

December 21, 2019

प्रकाश नायक असम के लोग तीन महान व्यक्तियों का बहुत सम्मान करते हैं। प्रथम, श्रीमंत शंकर देव, जो पन्द्रवीं शताब्दी में वैष्णव धर्म के महान प्रवत्र्तक थ...

item-thumbnail

फोक नहीं है लोक

December 21, 2019

सोमदत्त शर्मा लेखक आकाशवाणी, नई दिल्ली के लोक सम्पदा विभाग के समन्वयक हैं। एक दिन मैं हमेशा की तरह किताबें उलट-पलट रहा था। मेरी निगाह फादर कामिल बुल्क...

item-thumbnail

प्रकृति से उत्पन्न है भारतीय संगीत

December 21, 2019

चेतन जोशी लेखक प्रसिद्घ बाँसुरीवादक हैं। भारतीय संगीत में स्वर व्यवस्था की उत्पत्ति प्राकृतिक नियमों से हुई है। किसी तार पर जब षड्ज बजाया जाता है, तो ...

1 2 3 66