item-thumbnail

हिंद स्वराज हिन्दुस्तान की दशा

0 February 2, 2015

महात्मा गांधी अंग्रेजी न्याय व्यवस्था में वकीलों की काफी अहम् भूमिका है। परंतु स्वयं वकील रहे महात्मा गांधी वकीलों को न्याय देने में बड़ा अवरोध मानते ...

item-thumbnail

कैसी हो आदर्श न्याय व्यवस्था ?

0 January 20, 2015

गुरूदत्त लेखक प्रसिद्ध विचारक और उपन्यासकार हैं। शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता न्याय करना है। समाज में न्याय व्यवस्था की स्थापना के लिए ही शासन की स्थाप...

item-thumbnail

क्यों उपेक्षित हैं भारतीय चिकित्सा प्रणालियां

0 September 9, 2014

रवि शंकर कैंसर और एड्स जैसे असाध्य प्रतीत होने वाले रोगों से पीडि़त इस विश्व में आधुनिक चिकित्सा विज्ञान ने अद्भुत प्रगति की है। आज यह ईश्वर से होड़ ल...

item-thumbnail

उत्तम संतान के लिए गर्भ विज्ञान

0 September 9, 2014

डॉ. उमंग जे. पंडया :आयुर्वेद को पांचवां वेद माना गया हैं। वेदों के इस नित्य नूतन एवं चिर सनातन विज्ञान में गर्भ संस्कार का काफी महत्व बताया गया है। आच...

item-thumbnail

शिवाजी और सुराज

0 September 9, 2014

नेतृत्व क्षमता और शासन व्यवस्था पर राज्यसभा सदस्य अनिल माधव दवे द्वारा लिखी गई पुस्तक शिवाजी व सुराज में मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी को एक कुशल राजनीत...

item-thumbnail

उत्तम संतान भारतीय विज्ञान

0 September 9, 2014

aआयुर्वेद ने हमेशा से ही बहुप्रजा से सुप्रजा यानी कि ढेरों संतान से उत्तम संतान को महत्व दिया है तथा इसकी प्राप्ति के लिये विभिन्न विधि, नियमों का वर्...

item-thumbnail

18वीं शताब्दी के भारत की आर्थिक समृद्धि का स्वरूप

0 September 3, 2014

प्रो. कुसुमलता केडिया  : गत 150 वर्षों में भारत क्यों इतना कम विकसित हो सका अथवा पहले से अधिक विपन्न क्यों हो गया, इंग्लैंड की तरह आगे क्यों नहीं बढ़ा...

item-thumbnail

मानव सरोवर सर्वोत्कृष्ट आध्यात्मिक स्पन्दनों से युक्त परम पवित्र

0 July 29, 2014

पुनीत मानसरोवर :मानव सरोवर सर्वोत्कृष्ट आध्यात्मिक स्पन्दनों से युक्त परम पवित्र सर्वप्रसिद्ध अति प्रचीन गरिमामय एवम् मनमोहक सरोवरराज है। एस सी बर्नाड...

1 3 4 5