item-thumbnail

गांवों और कस्बों तक भी पहुंचे शास्त्रीय संगीत

0 September 9, 2014

– उमाकांत गुंदेचासबसे पहले अपनी ध्रुपद यात्रा के बारे में बताएं, कैसे और कब प्रारम्भ हुई?बचपन से गाने का शौक था, गुनगुनाते रहते थे, पिताजी को भी...

item-thumbnail

एशिया में सुरक्षित हमारे शब्द

0 September 9, 2014

डॉ. एन.एस.शर्मा इ तिहास के पन्ने साक्षी हैं कि विश्व की विभिन्न संस्कृतियों का लोप हो जाने के बावजूद अपने अंतर्निहित शाश्वत तत्वों के कारण भारतीय संस्...

item-thumbnail

लोगों की गाडग़ंगा

0 September 3, 2014

मीनाक्षी अरोड़ा और केसर : उ फरैखाल, पौड़ी, चमोली और अल्मोड़ा तीन जिलों के बीच स्थित गांव है। जो जिम कार्बेट नेशनल पार्क के उत्तर में और समुद्र तल से 6...

1 2 3