item-thumbnail

राज्य, समाज, व्यक्ति और निन्यानबे का फेर

September 22, 2017

रवि शंकर कार्यकारी संपादक बाप बड़ा न भैय्या, सबसे बड़ा रुपैय्या। यह कहावत जिसने भी बनाई होगी, उसने सोचा नहीं होगा कि कभी एक समय पूरा देश उसकी कहावत के...

item-thumbnail

अर्थव्यवस्था में राष्ट्र की संस्कृति का प्रतिबिम्ब हो

September 22, 2017

जवाहरलाल कौल लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं। शास्त्र के रूप में अर्थशास्त्र जैसा अमेरिका में पढ़ाया जाता है, उसी प्रकार हमारे देश में भी पढ़ाया जाता रहा है। ...

item-thumbnail

स्वास्थ्य, जीवनशैली और अर्थव्यवस्था

September 21, 2017

पिछले दिनों कुछ खबरें ऐसी आई हैं जिन पर हमारे देश के अर्थनीति बनाने वालों को गंभीरता से ध्यान देना चाहिए। यह अलग बात है कि उन्हें इन खबरों का आर्थिक म...

item-thumbnail

त्याग में छिपा है भोग का सही मार्ग

September 21, 2017

भारत विश्व का सबसे प्राचीन लोकतान्त्रिक राष्ट्र है। मानव जाति का विकास सर्व प्रथम इसी धरा से आरम्भ हुआ। सभ्यता की पहली किरण इसी भूमि से निकली। वैश्विक...

item-thumbnail

डॉ. सुभाष मुखर्जी याद हैं कॉमरेड ?

August 12, 2017

आलोचकों के हिसाब से “एक डॉक्टर की मौत” अच्छी फिल्म थी। अब जो आलोचकों के हिसाब से अच्छी थी वो तो जाहिर है आम लोगों ने नहीं देखी होगी। अच्छे फिल्म निर्द...

item-thumbnail

धूपन करें, मच्छर भगाएं

July 14, 2017

सुरेंद्र चौधरी से.नि. क्षेत्रीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी, उत्तर प्रदेश मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया। ये तीनों बीमारियाँ मच्छरों के द्वारा होती है...

item-thumbnail

स्वस्थ रह कर उठाएं वर्षा का आनंद

July 14, 2017

डॉ. नितिन अग्रवाल वरिष्ठ आयुर्वेदाचार्य एवं प्रबंध निदेशक, ब्लिस आयुर्वेदा वर्षा ऋतु में बीमारियां तेजी से फैलती हैं। इसके दो प्रमुख कारण हैं। सबसे पह...

1 2 3 34