item-thumbnail

क्या ब्रिटिश-पूर्व भारत के मंदिर प्रधान शैक्षिक संस्थान थे?

April 24, 2019

सौजन्य : सुभाष काक / स्वराज्य पत्रिका प्राचीन भारतीय मंदिर मानव जाति की कुछ सबसे बड़ी कलात्मक उपलब्धियाँ हैं, जिन्हें दुनियाभर में माना जाता है, लेकिन...

item-thumbnail

भव्य राम मंदिर बनाना ही है राजधर्म

April 10, 2019

रामेश्वर प्रसाद मिश्र पंकज लेखक वरिष्ठ विचारक हैं। हमें यह अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए कि राम मंदिर संबंधी मुद्दे के मूल में हमारे राज्य के आधारभूत स्...

item-thumbnail

वास्तु और स्थापत्य का संगम राजस्थान

April 10, 2019

विवेक भटनागर लेखक इतिहासविद् हैं। ऐतिहासिक रूप से मेवाड़ या शिबि जनपद का भारतवर्ष की राजनीति में अत्यन्त व्यापक प्रभाव है। इस जनपद का वर्णन स्ट्रेबो न...

item-thumbnail

वर कन्हरा की चामुण्डा प्रतिमा

April 10, 2019

डॉ. जितेन्द्रकुमार सिंह संजय सोनभद्र जनपद की घोरावल तहसील के शैवतीर्त शिवद्वार (सतद्वारी) के नैऋत्य कोण पर अवस्थित वर-कन्हरा नामक गाँव में भगवती चामुण...

item-thumbnail

कृषि, मौसमविज्ञान और कवि घाघ

April 10, 2019

मंजू श्री लेखिका कवियित्री तथा साहित्यकार हैं। मनुष्य के जीने के लिए प्रकृति ने जो संसाधन उपलब्ध कराये हैं, उसे उसने अपने ढंग से कृषि के रूप में विकसि...

item-thumbnail

सेक्युलरिज्म या भारतीयता का विरोध

April 10, 2019

श्रीश देवपुजारी लेखक संस्कृत भारती के अ. भा. मंत्री है विनायक शाह नाम के व्यक्ति ने सर्वोच्च न्यायालय मे याचिका दाखिल कर कहा है कि केंद्रीय विद्यालयों...

item-thumbnail

प्रार्थना के बहाने देश पर चोट

April 10, 2019

धरोहर की चर्चा करने पर हमारे मन में केवल कुछ पुराने भवनों या उनके खंडहरों का चित्र उभरता है। क्योंकि स्वाधीनता के बाद से यही स्थापित किए जाने का प्रया...

item-thumbnail

फूलों से रोगों का इलाज

April 8, 2019

पुष्प अपने आराध्य को अर्पित करके, उनके प्रति समर्पण का भाव दर्शाता है। आज इनका उपयोग प्रत्येक अवसर पर होता है। जन्मदिन से लेकर अंत्येष्टि संस्कार तक इ...

1 2 3 58